Unheard Shayari - अनसुनी शायरी - Unheard Shayari In Hindi

Unheard Shayari: नमस्कार दोस्तों, हमेशा की तरह आज फिर से हाजीर है एक नए तरह की पोस्ट के साथ जिसका टाइटल है अनसुनी शायरी। अगर आप शायरी के शौकीन है तो आपको भी नई नई शायरी पढ़ने मे आनंद आता होगा। 

हम डेली नए नए तरह की पोस्ट पब्लिश करते रहते है। इस साइट पे आपको विभिन्न तरह की शायरी केटेगरी मिलेगी। हम उम्मीद करते है की इस पोस्ट की Unheard Shayari In Hindi आपको याची लगेगी और इसे आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करेंगे। 

अचानक जाने से जान पर बन सकती है,

यूं करो, धीरे धीरे हाथ छुड़ाकर जाओ यहां से।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

चुभन सी होती हैं दिल मे,

जब कोई अपना बेगाना बन जाता हैं यूँही कुछ पल में।


बिना गलती के मिली हुई सजा,

मौत से भी बदत्तर लगती है।


किसी भी दिन तुझे गवां दूंगी,

मैं बहुत बेवकूफ लड़की हूं।


Unheard Shayari In Hindi


अभी तक नहीं समझ पाए हम भरोसे टूटते रहे या भ्रम,

बदनाम बेचारा पेट्रोल हो गया भाव तुम्हारे भी कम नहीं है।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

जिंदगी है चार दिन की कुछ भी ना गिला कीजिए,

दवा जहर जाम इश्क़ जो मिले मजा कीजिए।


जो तुमसे तुम्हें ही गिड़गिड़ा कर मांग रही थी,

वो लड़की लाडली थी अपने घर की।


कुछ ना मिले उस शख़्स से तो भी चलेगा,

बस मेरा होना उसमें झलकना चाहिए।


Unheard Shayari Quotes


कश्तियाँ टूट गई है सारी,

अब लिये फिरता है दरिया हमको।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

हम मोहब्बत कुछ तुझसे बेमिसाल रखते है,

कि खुद से ज्यादा भी हम तेरा ख्याल रखते हैं।


ख़ुद को छान के भी देखा है मैने, 

उसकी यादें मेरे  जिस्म ओ जान से जाती ही नही।


छू गया जब कभी ख्याल तेरा दिल मेरा देर तक धड़कता रहा, 

कल तेरा ज़िक्र छिड़ गया घर में और घर देर तक महकता रहा।


Motivational Unheard Shayari


ज़रा ना दिखूँ मैं और तुम बेचैन हो जाओ,

कुछ ऐसे इश्क़ की तलाश में हु मैं।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

बड़े ही खुशनुमा वहम में थे,

कि हम उनकी जिंदगी में अहम थे।


ख्वाहिश ये नही कि वो लौट आए मेरे पास,

तमन्ना ये है कि उसे जाने का मलाल हो।


इस जहां में कब किसी का दर्द अपनाते हैं लोग,

रुख हवा का देख कर अक्सर बदल जाते हैं लोग।


Unheard Shayari Images


ये ज़रूरी नहीं है की हर बात पर तुम मेरा कहा मानो,

दहलीज पर रख दी है चाहत और अब आगे तुम जानो।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

बस यही सोचकर ज्यादा शिकवा ना किया मैंने,

कि अपनी जगह हर इंसान सही हुआ करता है।


इश्क़ की भी अपनी बचकानी ज़िद है,

चुप कराने को भी वही चाहिए जो रुला कर गयी है।


कुछ चीज़ें बेवजह होती है,

बातो का मतलन ढूंढने से अच्छा,

बातो को समझना और जी लेना सीखो,

ज़िन्दगी की मुस्कुराहट फिर लौट आएगी।


अनसुनी शायरी


दिल एक हो तो कई बार क्यों लगाया जाये,

बस एक इश्क़ ही काफी है अगर निभाया जाये।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

न जाने कौन सी बात है उस जाने पहचाने से अजनबी मे,

मेरे लाख न चाहते हुए भी ,मेरी तन्हाई मे भी,

मेरे मुस्कुराने की बजह बन जाती है।


किसी से रूठ कर दरवाज़े भले बंद करिए पर,

एक खिड़की ज़रूर खुली रखिए गुंज़ाइश की उम्मीदों की।


मतलबी जमाना है नफरतों का कहर है,

ये दुनिया दिखाती शहद है पिलाती जहर है।


Unheard Shayari - इतना भी हक नहीं मेरा 


जानता हूँ नहीं भूला पाऊँगा तुझे,

पर दिखावा करने का हक तो है न मुझे।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

अब तो कोई ख्वाहिश ना रही तुझसे,

क्योंकि वक्त के साथ खुद जो बदल गए तुम।


उनके इंतजार की घड़ी भी अब धीमी हो गई,

वो शायद इसलिए कि उनके वादों में कोई सच्चाई ही न थी ।


किसी से रूठ कर दरवाज़े भले बंद करिए पर,

एक खिड़की ज़रूर खुली रखिए गुंज़ाइश की उम्मीदों की।


Unheard Shayari In Hindi


राज जाहिर ना होने दो तो एक बात कहूं,

हम धीरे-धीरे तेरे बिन मर जाएंगे।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

कभी ज़्यादा कभी थोड़े कभी कुछ कम नज़र आए कसम ले लो, 

हमें हर वक्त तुम ही तुम ,नज़र आए।


उसने मेरी हथेली पे अपनी नाज़ुक सी ऊँगली से लिखा मुझे प्यार है तुमसे,

न जाने कैसी स्याही थी की वो लफ्ज़ मिटे भी नहीं और आज तक दिखे भी नहीं।


समय के साथ जिंदेगी भी उन गुलाब की तरह हो गई है,

जो किसी किताबों के नीचे दबकर मुरझा गईं है।


Unheard Shayari Quotes


सारे जख्मों की तपिश दूर कर देती है,

तेरे प्यार की जरा सी बारिश।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

हर इश्क का एक वक्त होता है वो हमारा वक्त नहीं था,

पर इसका ये मतलब ये नहीं कि वो इश्क नहीं था।


दफ़न कर दी अपनी खुशियां तेरी खुशियों की खातिर,

अगर यही मेरी गलती है तो बता मेरी गलती है क्या आखिर।


वो कहते हैं मैं ग़ज़ब लिखता हूँ, बेख़बर

मैं तेरा ही दिया हुआ दर्द लिखता हूँ।


Motivational Unheard Shayari


मत लगाओ हिसाब मेरे आंसुओ का जनाब,

समंदर के पानी को कोई नाप नहीं पाया।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

चलो दिल की अदला-बदली कर लें,

तड़प क्या होती है समझ जाओगे।


इश्क़ है तो ये अधूरापन क्यूँ है ,

तुम हो तो ये सूनापन क्यूँ है।


शादी मेरी भी हो गई, और उसकी भी हो गई,

पर अगर हमारी होती तो क्या बात होती।


Unheard Shayari Images


मेरे दिल से उसकी हर गलती माफ हो जाती हैं,

जब वो मुस्कुरा के पूछती है नाराज हो क्या।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

तुम बस मुस्कुराते रहो,

मेरी साँसें चलती रहेगी।


कभी देखु काशी तो कभी देखू काशी का ठाट, 

कभी अस्सी दशाश्वमेश तो कभी देखु राजघाट।


बनारस की ऊन तंग गलियों की आवारगी सा मेरा इश्क़ है, 

वो घाटो का सुकून है जिसका ठहराव इश्क़ है।


अनसुनी शायरी - जरूरत वाली मोहब्बत 


कौन मेरी चाहतों का फसाना समझेगा इस दौर में,

यहाँ तो लोग अपनी जरुरत को मोहब्बत कहते हैं।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

दो हिस्सों में बंट गए मेरे दिल के सब अरमान,

कुछ तुझे पाने निकले तो कुछ मुझे समझाने निकले।


काश वो समझते इस दिल की तड़प को,

तो यूँ हमें रुसवा ना किया होता,

उनकी ये बेरुखी भी मंज़ूर थी हमें,

बस एक बार हमें समझ लिया होता |


Unheard Shayari - दिल ही तो टूटा है 


तुम पूछो और मैं ना बताऊ अभी ऐसे हालात नही,

बस एक छोटा सा दिल टुटा है और कोई बात नही।


Unheard Shayari - अनसुनी शायरी

बेमौसम बरसती हैं वो,

बिल्कुल मौसम जैसी ही हैं वो,

कभी आसानी से समझ आती हैं वो,

कभी कभी समझ से परे होजाती हैं वो।


मोहब्बत में सिर्फ आपसे करती हूं,

आपके सिवा किसी और की चाहत नहीं,

बस आप ही हो इस दिल में,

आपके सिवा दूसरा कोई और नहीं।


Read Also:

Unheard Shayari

Waqt Shayari

Love Shayari

Yaad Shayari

Zindagi Shayari