Udas Shayari - उदास शायरी - Udas Shayari 2 Lines

Udas Shayari In Hindi: नमस्कार दोस्तो, हमेशा की तरह आज फिर से हाजिर है एक नए पोस्ट के साथ जिसका टाइटल उदास शायरी है। जब कभी दिल उदास हो जाता है तो फिर हमे कुछ भी अच्छा नहीं लगता। जब कभी दिल उदास हो तो हमें अपनो से बात करना चाहिए उसे क्या होता है कि हमारा दुःख हल्का हो जाता है। अगर आपका भी दिल उदास है तो ये पोस्ट पढ़कर आपको जरूर अच्छा महसूस होगा।

हम उम्मीद करते है कि इस पोस्ट की udas shayari image आपको जरूर अच्छी लगेगी और इसे आप अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करेंगे।


इश्क करना है तो रात की तरह करो,

जिसे चाँद भी कुबूल हो और उसके दाग भी।


Udas Shayari - उदास शायरी

उनकी दिल्लगी इश्क़ है, 

गुनाह है मेरा दिल लगाना।


बड़ा हो गया है ओहदे में,

इंसान मगर वो छोटा रह गया।


तेरी आवाज़ मेरी रोजी-रोटी हुआ करती था,

तू मुझे भूख से मारेगा मैंने सोचा भी ना था।


सब्र का हद ये है के ,

तक़दीर पर कोई शिकवा ना हो।


Udas Shayari In Hindi


पाला है बच्चों की तरह उसके दर्द को भी,

और वो बेवफा कहता है कि हमने मोहब्बत नही की।


Udas Shayari - उदास शायरी

तू मोहब्बत से कोई चाल तो चल,

हार जाने का हौसला है मुझे।


मेरे मरने पर किसी को ज्यादा फर्क नहीं होगा,

बस तन्हाई रोएगी कि मेरा हमसफ़र चला गया।


तुम्हे देखने से जो मिलता है, 

सारा मसला उसी सुकून का है।


झूठ कहूँ तो लफ्जों का दम घुटता है,

सच कहूँ तो लोग खफ़ा हो जाते हैं।


Udas Shayari Image


जमाने भर की बातें उनसे कह दी,

जो कहना चाहिए था वो कहा नही।


Udas Shayari - उदास शायरी

तक़दीर की लिखावट पर क्या सोच रहे हो,

क्या तुमने कभी पुतले का तमाशा नहीं देखा।


सिला वफ़ा का बेवफाई,

मोहब्बत  रो रो कर मुस्कुराती रही।


सिला वफ़ा का बेवफाई,

मोहब्बत  रो रो कर मुस्कुराती रही।


वो चला गया बिन खबर दिए ही,

मैं अलविदा बोलना सीख रही हूं।


Udas Shayari Images


बहुत ग़ुरूर है दरिया को अपने होने पर,

जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएँ।


Udas Shayari - उदास शायरी

बहुत ग़ुरूर है दरिया को अपने होने पर,

जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएँ।


मैं भी तलाश में हूँ किसी अपने की,

कोई तुम सा हो लेकिन किसी और का ना हो।


न हम-सफ़र न किसी हम-नशीं से निकलेगा,

हमारे पाँव का काँटा हमीं से निकलेगा।


आग लगाने वालो को कहाँ इसकी खबर हैं,

रुख हवाओ का बदला तो खाक वो भी होंगे।


Udas Shayari 2 Lines


हर इल्ज़ाम की वकालत कर करूँगा,

बस तुम मुझे इस हालात से निकालो।


Udas Shayari - उदास शायरी

मुझमे तो कोई आग नही थी,

ये इश्क़ की चिंगारी कहाँ से जलाई तुमने।


सुलग तो पहले से रही थी,

तुम्हे देख तो भड़क पड़ी ये इश्क़ आग।


इश्क़ वो चिंगारी है जिसके करिब आने वाला,

हर कोई मोहब्बत की आग में जल जाता है।


अब हमारी उम्र ऐसी है कि,

खुल के रो भी नही सकते।


उदास शायरी


किसी ने रख दिए ममता-भरे दो हाथ क्या सर पर,

मेरे अंदर कोई बच्चा बिलक कर रोने लगता है।



पुराने खतों को पता नया मिल जाएगा, 

ढूंढते रह जाओगे पर मुझसे सा न मिल पायेगा।


ढूंढ लेंएंगे तुम्हें यहाँ हो या आसमां से,

भूला ना पाओगे हमें चाहे यहाँ हो या वहाँ।


अगली बार एक लंबी उम्र लेकर आऊंगा,

इस बार मुझे कहीं और साथ निभाना है।


तेरी हामी ज़रूरी है इश्क़ में जाना,

इसे अकेले करने में कोई मज़ा ही नही।


Udas Shayari


इतने टुकड़े हो चुके है दिल के,

नीलामी पे डालू तो बिकना भी नही है।


Udas Shayari - उदास शायरी

इश्क़ करना है तो रात की तरह करो,

जिसे चाँद भी कुबूल हो और उसके दाग भी।


खामोशियों से मिल रहे, खामोशियों के जवाब,

अब कैसे कहूँ कि उनसे मेरी बात नहीं होती।


खामोशियाँ भी करतीं हैं हाल ए दिल बयां,

जुबां नहीं कह पातीं जो बातें आंखें कर जाती हैं बयां।


भूल गए हैं लफ्ज़, मेरे लबों का पता जैसे,

या फिर खामोशियों ने जहन में पहरा लगा रखा।


Udas Shayari Image


खुदखुशी हराम है साहब,

मेरी मनो मोहोब्बत कर लो।


उसने भी दरिया में डाल दी होगी,

मेरी मोहब्बत भी  एक नेकी थी।


वो इक मजाक जिसे लोग इश्क़ कहते हैं,

मैं उस मजाक का जुर्माना भर के आया हूँ।


पत्थर दिल नही हूँ मैं, मुझमें भी नमी है,

अपना दर्द नही दिखाता बस यही कमी है।


जिस ख्वाब में हो जाए दीदार-ए-यार हासिल,

ऐ इश्क कभी हमको भी वो नींद सुला दे।


Udas Shayari In Hindi


तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं,

एक ज़रा सा दिल टूटा है और तो कोई बात नहीं।


Udas Shayari - उदास शायरी

खुद से फुरसत ही मय्यस्सर नहीं आई वरना,

हम किसी और के होते तोतुम्हारे होते।


रात का जादू बोलता है सर चढ़ कर,

तुम भी कुछ बोलो मेरी आँखों को पढ़ कर।


अकेलेपन ने बिगाड़ी है आदतें मेरी,

वो लौट आये तो मुमकिन है की सुधर जाऊं मैं।


बारिश के बाद तार पर टंगी आख़री,

बूंद से पूछना, क्या होता है अकेलापन।


Udas Shayari Images


तुम ख़ुद उलझ जाओगे मुझे ग़म देने की चाहत मे,

मुझमे हौंसला बहुत है मुस्कुराकर निकल जाएँगे।


Udas Shayari - उदास शायरी

हर मंजर मे मैं पाऊँ तुझे,

कैसे कहूँ कितना चाहूँ तुझे।


मैं सहूँ कर्ब-ए-ज़िन्दगी कब तक, 

रहे आखिर तेरी कमी कब तक।


मासूमियत का कुछ ऐसा अंदाज़ था मेरे सनम का,

उसे तस्वीर में भी देखूं तो पलकें झुका लेती थी।


Read Also:

Chand Shayari

Comedy Shayari 

Chai Shayari

Dard Shayari

Dhokhebaaz Shayari