Matlabi Shayari - मतलबी शायरी - Matlabi Shayari Images

Matlabi Shayari: नमस्कार दोस्तो, हमेशा की तरह आज फिर से हाजिर है एक नए पोस्ट के साथ जिसका टाइटल है मतलबी शायरी। आजकल की दुनिया में सब लोग मतलबी है लोग बिना मतलब के कोई रिश्ता भी नहीं निभाता चाहता है। हम उम्मीद करते है कि इस पोस्ट की matlabi shayari images आपको अच्छी लगेगी और आप इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करेंगे।

मतलब ये ख़ामोशी किसी काम की नही,

बयान करके बताऊँ की उदास हूँ मैं।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

तुम इश्क करो और दर्द न हो,

मतलब दिसम्बर की रात हो और सर्द न हो।


मतलब निकल जाने पर ‎पलट के देखा भी नहीं,

रिश्ता उनकी  नज़र  में कल का  अखबार  हो गया।


एक तेरा मुझसे बेमतलब का रिश्ता,

कीमती है लाख मतलब के नातों से।


Matlabi Log Shayari In Hindi


मतलब के बग़ैर कौन किसी को पुछता है साहब,

बग़ैर रूह के तो घरवाले भी नहीं रखते।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

अगर आप को वक़्त का पता नहीं चल रहा है,

तो इसका मतलब की आप का वक़्त अच्छा चल रहा है।


इस मतलबी दुनिया में यू खो जाओ,

उठो मतलब की बात करो और सो जाओ।


जो भूल गए उन्हें भूल जाने दो,

सब याद करेंगे मतलब के दिन तो आने दो।


Matlabi Duniya Shayari In Hindi


इस मतलब की दुनिया में बेमतलब सा इश्क है तुमसे,

इस मतलबी दुनिया की एक बात निराली थी।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

सबके पास सब कुछ था,

बस दिल वाली जगह खाली थी।


इतनी दिलक़श आँखें  होने का, ये मतलब तो नही,

कि, जिसे देखो  उसे दिवाना कर दो।


मैं मतलबी नहीं जो साथ रहने वालो को धोखा दे दू,

बस मुझे समझना हर किसी के बस की बात नहीं।


Matlabi Shayari In Hindi


मतलब कि दीवार इतनी ऊँची भी मत करो

की जब खुद को जरूरत पड़े तो कूदा भी ना जाए।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

जो कल तक अपना था वो आज अजनबी है,

क्या करूँ यार मेरा यार मतलबी है।


मुझे बुरा कहते हो इसका मतलब,

अभी जमाना देखा नही है तुमने।


आओ नज़रों से बात करते हैं,

लफ्ज़ मतलब बिगाड़ देते हैं।


Matlabi Shayari 2 Lines


वो कभी मेरी बातों का मतलब समझी ही नहीं

और खुद को ग्रेजुएट कहती है।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

बस इसी बात ने उन्हेँ शक मे डाल दिया,

उफ्फ इतनी मोहब्बत कोई मतलब तो होगा।


यूँ असर डाला है मतलबी लोगों ने दुनिया पर, 

हाल भी पूछो तो लोग समझते हैं कोई काम होगा।


जरूरी नहीं कि हर ताल्लुक का मतलब मोहब्बत हो,

कुछ रिश्ते मोहब्बत से ऊंचा मुकाम रखते है।


Matlabi Pyar Shayari


सोचता हु अब खुद पर ही लगा दू अपना इल्जाम, 

दिल मानता ही नही हैं की तुम मतलबी थे।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

मतलबी जमाना है नफरतों का कहर है,

ये दुनिया दिखाती शहद है पिलाती जहर है।


बिना मतलब के बात करे मुझसे,

ऐसे एक शख्स की तलाश मेे हूँ।


हमें तो राह तकने से है मतलब,

मसला तुम्हारा है तुम आओ या ना आओ।


Matlabi Shayari Images


मायूस हो गया दिल इस ज़िन्दगी के सफ़र से,

मक़सद की मोहब्बतें है ओर मतलब की यारियां।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

निभा दिया उसने भी दस्तूर दुनिया का तो गिला कैसा,

पहचानता कौन है यहां मतलब निकल जाने के बाद।


तेरे साथ का मतलब,जो भी हो,

तेरे बाद का मतलब कुछ भी नहीं।


कभी मतलब के लिए तो कभी सिर्फ दिल्लगी के लिए,

हर कोई मोहब्बत ढुंढ रहा है यहा अपनी ज़िन्दगी के लिए।


Matlabi Shayari


लंबी बातों से मुझे कोई मतलब नहीं,

मुझे तो उनका जी कहना भी कमाल लगता है।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

आजकल नहीं चलता प्यार जन्म जन्मों का,

लोग अपना मतलब निकाल कर मुँह फेर लेते है।


हम गरीब लोग है किसी को मोहब्बत के सिवा क्या देंगे,

एक मुस्कराहट थी वो भी मतलबी लोगो ने छीन ली।


मस्त रेहता हूं अपनी मस्ती मैं,

जाता नहीं मतलबी लोगो की बस्ती मैं।


मतलबी शायरी


हम तो रात का मतलब समझें ख़्वाब सितारे चाँद, 

चराग़ आगे का अहवाल वो जाने जिस ने रात गुज़ारी हो।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

बोल नहीं रहा इसका मतलब ये नहीं की भूल गया हूँ मैं,

मुझे ये देखना है की तुझे मेरी याद कितनी आती है।


दुनिया मतलब की है तुम किस मुखलिश की बात करते हो गालिब,

लोग जनाजा पढ़ने भी आते है तो अपने सवाब के खातिर।


खामोशी का मतलब लिहाज होता है,

लोग इसे कमजोरी समझ लेते है।


Matlabi Log Shayari In Hindi


कुछ लोग पसंद करने लगे हैं अलफाज मेरे,

मतलब मोहबत में बर्बाद ओर भी हुए हैं बन्ना सा।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

बस एक शख्स से मतलब है,

और अफसोस वो भी बात नहीं करता।


बड़े  मतलबी  निकले  यार  वो  सभी,

जिनको यार बना कर रखा था कभी।


वो अब हर एक बात का मतलब पूछता है मुझसे,

कभी जो मेरी ख़ामोशी की तफ्सील लिखा करता था।


Matlabi Shayari In Hindi


हमे तो इंतजार करने से मतलब है,

मसला तुम्हारा है तुम मिलो या ना मिलो।


Matlabi Shayari - मतलबी शायरी

हमेशा टूटने का मतलब खत्म होना नही होता हैं,

कभी कभी टूटने से नई शुरुवात भी हो सकती है।


मतलबी लोग खड़े है रास्ते में पत्थर लेकर,

शीशे का नसीब लेकर मैं कहाँ तक भागूँ।


ऐ मतलब तेरा शुक्रिया,

तूने जोड़ रखा हैं इंसानो को।


बस इसी बात ने उन्हेँ शक मे डाल दिया,

उफ्फ इतना प्यार कोई मतलब तो होगा।